ग्राम पंचायत योजना राजस्थान. गंगरार की सुवानिया ग्राम पंचायत मुख्यालय पर रात्रि चौपाल के दौरान ग्रामीणों की समस्याओं का किया समाधान 2018-07-18

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान Rating: 4,7/10 1624 reviews

[लिस्ट] मोबाइल से राजस्थान वृद्धावस्था पेंशन योजना लिस्ट 2019 ऑनलाइन कैसे देखें ?

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

प्रखंड विकास पदाधिकारी स्थाई समितियों का सचिव होता है. धनका ने कहा कि सरकारी योजनाओं से सामाजिक अंकेक्षण को बहुत फायदा पहुंचता है. गंगरार। भगवान था को बोलो करें मारा घर वाले की मौत हो या 3 बरस हो गया आज तक हमारी जमीन मारा रतन का नाम को नहीं हुई आज मारी अरजी पर हाथों-हाथ सुनवाई हो गई हमारी जमीन मारे नाम हो गई यह कहते हुए मान सिंह का खेड़ा निवासी वृद्धा जमुना जमुना भाई बहुत हो गई सोनिया ग्राम पंचायत मुख्यालय पर आयोजित रात्रि चौपाल में जमुनी बाई की पेंशन मंजूरी दी हुई रात्रि चौपाल की शुरुआत अतिरिक्त जिला कलेक्टर नारायण सिंह चारण नगर विकास न्यास सचिव एवं गंगरार ब्लॉक प्रभारी अध्यक्ष श्री चरण अतिरिक्त मुख्य कार्यकारिणी दीपेंद्र सिंह राठौर उपखंड अधिकारी बनवारी लाल पटीर ने दीप प्रज्वलित कर की सहायक निदेशक सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ओमप्रकाश तोषनीवाल ने पेंशन पालनहार संभल ग्राम दिव्यांग सहायता योजना B. उसे ग्राम-कल्याण कार्य के लिए बड़े-बड़े सरकारी पदाधिकारियों के समक्ष पंचायत का प्रतिनिधित्व करने भी अधिकार है. भैंसलाना में खाद्यान भंडार निर्माण! सदस्यों का कार्यकाल पाँच वर्ष होगा. यदि पदेन सदस्य इस पद पर नहीं रहे जिस पद के अधिकार से वह सदस्य बना हो, तो वह पंचायत समिति का सदस्य नहीं भी रह सकेगा. Please, list Mai name dekhe and Bpl list Mai makan ka prakar pakka hai and hamare pas ghar kaccha hai, so sir aap is karya ka samadhan kare please sir Mobile no.

Next

ग्रामीण फ्री शौचालय निर्माण लिस्ट या सूची

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

भारतीय संविधान में शासन चलाने से सम्बन्धित कुछ निर्देशक सिद्धांतों का भी उल्लेख है. इसमें बड़ी संख्या में ग्रामीण हिस्सा लेते हैं जो कई उपयोगी सुझाव देने के साथ योजनाओं की खामियों और अच्छाइयों के बारे में बताते हैं. कचहरी के प्रत्येक तरह के मुक़दमे की सुनवाई में सरपंच अवश्य रहता है. ग्राम पंचायत ग्राम पंचायत का गठन — Composition of Gram Panchayat a सरपंच ग्राम पंचायत की न्यायपालिका को ग्राम कचहरी कहते हैं जिसका प्रधान सरपंच होता है. राज्य सरकार को पंचायत समिति के क्षेत्र को घटाने-बढ़ाने का अधिकार होता है.


Next

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण लिस्ट राजस्थान 2019

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

आप होनी सुबिधा के अनुसार अपनी भाषा चुन सकते है , अभी यहाँ पर इंग्लिश,हिंदी और पंजाबी का ऑप्शन है। …इमेज देखें Step 3. Kaun Kha Gya Paisa Pata Nhi. थान सिह गंगबार चठिया भैसहा अमरिया।पीली भीत उतर प्रदश मो. समाचार व जानकारी जिसका आपके जिंदगी से है सीधे सरोकार, अपने मनपसंद का टॉपिक पर क्लिक करें! यह व्यवस्था त्रि-स्तरीय है- ग्राम पंचायत, पंचायत समिति और जिला परिषद्. मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी जिलाधिकारी की श्रेणी का पदाधिकारी जिला परिषद् का मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी होता है जिसकी नियुक्ति सरकार द्वारा की जाती है.

Next

ग्राम पंचायत भैंसलाना

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

जिला परिषद् की बैठक बुलाने, उसकी अध्यक्षता करने एवं उसका सञ्चालन करने का अधिकार अध्यक्ष का ही है. गठन के बाद जिला परिषद् की पहली बैठक की तिथि जिलाधिकारी द्वारा निश्चित की जाएगी जो उस बैठक की अध्यक्षता भी करेगा. सर्वप्रथम नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें Step 2. सदस्य i प्रखंड की प्रत्येक पंचायत के सदस्यों द्वारा निर्वाचित दो सदस्य होंगे. ग्राम पंचायत के सभी ज्ञात-अज्ञात प्रमाण पंचायत सेवक के पास सुरक्षित रहते हैं. वहीं सामजिक अंकेक्षण के लिए जिला स्तर के 28 अधिकारियों को पर्यवेक्षण के लिए नियुक्त किया गया है. समितियों का काम अपने विषयों से सम्बद्ध पंचायत समिति के सारे कार्य संपादित करना है.

Next

उत्तर प्रदेश पंडित दीनदयाल उपाध्याय आदर्श नगर पंचायत योजना

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

इसके लिए उसने प्रजातांत्रिक विकेंद्रीकरण के सिद्धांत को लागू करने की सिफारिश की. ग्राम पंचायत योजना ग्राम पंचायत योजना क्या है? आरक्षित पदों में भी तीस प्रतिशत पद अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए अरक्षित रहेंगे. संक्षेप में, ग्राम पंचायत के सभी कार्यों के सम्पादन में उसका महत्त्वपूर्ण स्थान है. अध्यक्ष-पद के लिए भी अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और पिछड़े वर्ग के लिए स्थान आरक्षित रखने की व्यवस्था की गई है. केन्द्र सरकार के द्वारा चलाई जा रही सांसद आदर्श ग्राम योजना की तर्ज पर प्रदेश में चलाई गई मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना सिर्फ आदर्श नाम तक सिमट कर रह गई है। ना ही तो सरकार ने आदर्श बनाने के लिए कोई अतिरिक्त बजट आवंटित किया व ना ही कोई अतिरिक्त विकास करवाएं। ऐसे में योजना धरातल पर आने से पहले ही दम तोड़ रही है। जानकारी के अनुसार प्रदेश में मुख्यमंत्री ने वर्ष 2016 में मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना की शुरूआत की थी। योजना के अनुसार प्रत्येक विधायक को प्रत्येक वितीय वर्ष में एक ग्राम पंचायत को आदर्श पंचायत के रूप में चुनना था। इसी तरह अब तक दो बार आदर्श ग्राम पंचायतों का चयन हुआ है। आदर्श ग्राम पंचायत योजना के तहत 2016 में चुनी गई पंचायतों के विकास के लिए 20 लाख रूपये का अतिरिक्त बजट दिया था। वर्ष 2017 में चुनी गई ग्राम पंचायतों के विकास के लिए सरकार की ओर से दी जाने वाली 20 लाख रूप्ये की राशि नहीं मिली। हाल ही में ग्रामीण विकास मंत्री राजेन्द्र राठौड़ ने विधायकों को पत्र लिखकर इस वर्ष भी आदर्श ग्राम पंचायत योजना के तहत ग्राम पंचायत के चयन करने के लिए लिखा गया है। ऐसे में सवाल यह है कि आखिर बिना बजट के ग्राम पंचायत आदर्श कैसी होगी। बिना बजट के आदर्श ग्राम पंचायत योजना दम तोड़ रही है। बिना बजट के कैसे आदर्श बने पंचायतें मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना में शामिल ग्राम पंचातयों की वीडीपी में बहुत सारे कार्य लिए जा रहे हैं। जलदाय विभाग, विद्युत विभाग सहित कई अन्य विभागों में स्थानीय स्तर पर उक्त कार्य करवाने के लिए बजट नहीं होता है। उक्त कार्य करवाने के लिए मुख्यालय में पत्राचार किया जाता है। ऐसे में उक्त कार्यों के लिए बजट ना आकर सिर्फ कागज पत्र ही चलते रहते है। सरकार इसके लिए उक्त विभागों को कोई बजट नहीं जारी कर रही है। ऐसे में कार्य सिर्फ कागजों तक सिमट कर रह जाते है। उक्त संबंध में जिला परिषद से कोई वर्जन ले सकते है। व आदर्श ग्राम पंचायतों की सूची लेकर साथ लगा सकते है। विभागों में नहीं है सामंजस्य, ना कोई मॉनीटरिंग मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम योजना की तहसील स्तर से लेकर जिला स्तर व प्रदेश स्तर तक कोई प्रभावी मॉनीटरिंग नहीं है। इसके कारण विलेज डवलपमेंट प्लान में लिए कार्य भी पूर्ण नहीं होते है। विलेज डवलपमेंट प्लान में शामिल किए गए कार्य विभिन्न विभागों से संबंधित होते है, जबकि इसकी मॉनीटरिंग पंचायत समिति करती है। ऐसे में दूसरे विभागों से कोई सामंजस्य नहीं रहता है। इसके अभाव में वीडीपी में शामिल कार्य सिर्फ कागजों तक सिमट कर रह जाते है। प्लान में लिए कार्य भी अभी तक नहीं हुए पूर्ण मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना के तहत गत दो वर्षो में प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में अब तक दो ग्राम पंचायतों का चयन हुआ है। जिले में कुल 16 ग्राम पंचायतों को मुख्यमंत्री आदर्श ग्राम पंचायत योजना के तहत विकसित करना था। विधायक की अभिशंषा पर चुनी गई पंचायतों में ग्राम सभा की बैठक कर विलेज डवलपमेंट प्लान तैयार किया जाता है। उक्त प्लान में सभी कार्य सम्मलित किए जाते जो ग्राम पंचायत को आदर्श बनवाने के लिए करवाएं जाने है। हालात यह है कि उक्त प्लान के तहत लिए गए कार्य भी अभी तक पूर्ण नहीं हुए है। ऐसे में नई पंचायत के चयन पर कार्य कब तक पूर्ण होंगे।. वह पंचायत समिति के वित्त का प्रबंध करेगा.

Next

राजस्थान राशन कार्ड लिस्ट 2019

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष जिला परिषद् के निर्वाचित सदस्य यथाशीघ्र अपने में से दो सदस्यों को क्रमशः अध्यक्ष और उपाध्यक्ष के रूप में निर्वाचित करेंगे. संकटकाल में वह प्रखंड पदाधिकारी के परामर्श से आवश्यक कार्यवाही कर सकता है. अनुसूचितजाति, अनुसूचित जनजाति एवं पिछड़े वर्गों के लिए उनकी जनसंख्या के अनुपात में आरक्षण की व्यवस्था की गई है. ग्राम कचहरी की सफलता बहुत हद तक उसकी योग्यता पर निर्भर करती है. Ed प्रारंभिक ने उड़ान में उड़ता विद्यालय श्रम विभाग के मदनलाल ओजस्वी ने निर्माण श्रमिक पंजीयन योजना की जानकारी दी कृषि विभाग उप निर्देशक श्रीकांत अग्निहोत्री ने कृषक कल्याण योजनाओं का पर प्रकाश डाला पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक तारा चंद मेहरडा को ग्रामीण श्याम लाल मेनारिया ने 2 साल पूर्व मवेशी की मौत पर सहायता नहीं मिलने की बात कही इस पर आवेदन तैयार करवा अतिरिक्त जिला कलेक्टर ने हिंदुस्तान जिंक से सहायता दिलाने को कहा लीड बैंक मैनेजर संजय ने बैंकिंग गतिविधियों की जानकारी दी अधिशासी अभियंता जिला परिषद चित्तौड़गढ़ राकेश गुप्ता ने मनरेगा में व्यक्तिगत लाभ के कार्यों की जानकारी दी निर्माण श्रमिक सहायता योजना में मृतक हिताधिकारी डाली बाई को 200000 शुभ शक्ति योजना में गोपाल कृष्ण मेनारिया सागर देवी लीला देवी निवासी सानिया तथा रतन निवासी कुटिया को 55000 सहायता एवं निर्माण श्रमिक शिक्षा कौशल योजना में कन्हैया लाल मेनारिया मासी सानिया को 9000 सहायता दी गई प्रधानमंत्री आवास योजना में 2 लाभार्थियों को तृतीय किस्त किस्त स्वीकृत पत्र तथा दो को आवास स्वीकृत पत्र प्रदान किए 10 वृद्ध महिलाओं को दोगुनी राशि के पेंशन स्वीकृत पत्र 11 व्यक्तियों को पुश्तैनी आवास के पट्टे प्रधानमंत्री उज्जवल योजना में उन 50 निशुल्क गैस किट वितरित किए गए चौपाल में प्राप्त 26 परियोजनाओं को विभागीय अधिकारियों ने समाधान के लिए प्रस्तुत किया संचालन विकास अधिकारी कैलाश चंद्र शेर ने किया जिला स्तरीय अधिकारी तहसीलदार भूपेंद्र वर्मा b. नमस्कार सर मेरा नाम रणधीर सिंह है मै उत्तर प्रदेश से हु जिला शाहजहांपुर तहसील तिलहर थाना मदनापुर ब्लॉक मदनापुर गांव मथाना का निवासी हू मैं बिकलंग भी हू इस्का बावजुद मुझे कोई भी सहयाता नही मिल रही है मेरा मिट्टी का घर था वो भी बारिश मैं गीर गया अब तक कोई शौचालय नहीं मिला है और ना प्रधान मंत्री आवास योजना मैं घर मिला मेरे गांव का प्रधान अपने लोगो के काम करता है कोई सड़क नही है कोई भी नही सुन्ता है विधायक भी नही रासन कार्ड सूची मैं भी नाम नही है मेरा गांव में जिस्के घर है शौचालय है उसको आवस योजना के घर शौचालय मिल रहे हैं मेरे बच्चे को भी समस्या होती है सर आप मेरी मदद करो आप से अनुरोध कर्ता हू Contact detail +9182878 Randheer Singh आदरणीय महोदय, मेरी ग्राम सभा नागमलपुर, अभोली, संत रविदास नगर भदोही यू पी में है। मेरे पिता जी और बड़े पिता जी का लिस्ट में नाम है परन्तु हमारे यहां शौचालय का निर्माण नहीं हुआ है। और ना ही शौचालय के लिए रकम दिया गया और बीपीएल कार्ड भी नहीं बनवाया । धन्यवाद प्रधान द्वारा भेदभाव किया गया जो लोग शौचालय स्वयं बनबा सकते हैं उन लोगों को वग़ैर किसी जाँच के सगे परिवार मे दो दो लोगों के नाम रक़म दी जा चुकी है और जो सच में ग़रीब हैं उनको शौचालय केलिए रक़म तो दूर की बात बी पी एल कार्ड भी नहीं दिया गया है ।.

Next

राजस्थान राशन कार्ड लिस्ट 2019

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

आदरणीय महोदय, मेरी ग्राम सभा रूप नगर मुहम्मदाबाद फ़र्रूख़ाबाद यू पी में प्रधान दुारा भेदभाव किया गया जो लोग शौचालय स्वयं बनबा सकते हैं उन लोगों को वग़ैर किसी जाँच के सगे परिवार मे दो दो लोगों के नाम रक़म दी जा चुकी है और जो सच में ग़रीब हैं उनको शौचालय केलिए रक़म तो दूर की बात बी पी एल कार्ड भी नहीं दिया गया है । सर जी जिला गोपालगंज थाना भोरे ब्लाक भोरे गांव सिसई बाजार चौधरी छापर में बहुत ग़लत काम हो रहा है मुखिया जी कह रहे हैं की ग्राम वासियों से की पहले जिसका शौचालय बने गां वो लोग अपने पास से बनवा लें बाद में शौचालय का पैसा मिलेगा और जिसके पास पैसा नहीं है वो लोग कर्ज लेके बनाए नहीं तो केश किया जाएगा मेरा मोबाइल नम्बर 7607255299 सर मेरे गांव में कुछ लोगों के शौचालय बन गए हैं और सर मेरा शौचालय अभी तक नहीं बना है मैंने एक दो कुछ लोगों से बात करी है तो उन्होंने बताया कि अपने प्रधान से संपर्क कीजिए तो मैंने प्रधान से बात करी है तो प्रधान ने यह कहा है कि शौचालय हम नहीं बनवाएंगे के खाते में सीधे सरकार की तरफ से पैसा आएगा तभी आप अपना शौचालय बनवा लीजिए प्लीज सर मेरा शौचालय बनवाने की कृपा करें मेरा मोबाइल नंबर 9634 19 है Mera Naam 2016 Wali List Mein tha Abhi Tak Koi Paisa Nhi Mila. भैंसलाना व सुजात नगरम में नाली निर्माण मय पेवर ब्लॉक! भैंसलाना व सुजात नगर में जनता जल योजना द्वारा नल कनेक्शन! वह प्रखंड विकास पदाधिकारी के कार्यों की भी निगरानी करता है और पंचायत समिति के कार्यों की रिपोर्ट राज्य सरकार को देता है. राजेश्वर सिंह चौहान पंचायत प्रसार अधिकारी जगदीश चंद्र वैष्णव मिट्ठू लाल पारीक सरपंच सीमा सालवी सचिव शंभूलाल वैष्णव ग्राम रोजगार सहायक भैरू लाल तेली व ग्रामीण मौजूद थे।. उपाध्यक्ष सामजिक न्याय समिति का पदेन सदस्य एवं अध्यक्ष होता है. प्रमुख और उपप्रमुख प्रत्येक पंचायत समिति में एक प्रमुख और एक उपप्रमुख होगा, जिनका निर्वाचन पंचायत समिति के सदस्य करेंगे, लेकिन कोई सह-सदस्य इन पदों के लिए उम्मीदवार नहीं हो सकता. इस संशोधन के द्वारा देश में पंचायती राज की व्यवस्था लागू की गई. इस निर्देश के अनुपालन के लिए 1992 में संविधान में किया गया.

Next

Budget not allocated for Adarsh Gram Panchayat Yojana by government

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

उसकी सहायता के लिए ग्रामरक्षा दल भी होता है. उसे कदाचार, अक्षमता या कर्तव्यहीनता के कारण सरकार द्वारा हटाया भी जा सकता है. उसके बाद आप से ये पूछा जायेगा की आप किस जिला पंचायत में रहते है, आप अपने जिले का नाम सेलेक्ट कर लेंगे Step 5. वह बैठक में विचार-विमर्श कर सकता है तथा कोई प्रस्ताव रख सकता है, परन्तु मतदान में भाग नहीं ले सकता है. I believe in writing original and detailed content. I am dedicated to my work fully, You can expect more detailed Articles in the Future.

Next

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण सूची 2018

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

ग्राम पंचायत के कार्य i पंचायत क्षेत्र के विकास के लिए वार्षिक योजनाएँ तैयार करना ii वार्षिक बजट तैयार करना iii प्राकृतिक आपदा में साहयता-कार्य पूरा करना iv लोक सम्पत्ति से अतिक्रमण हटाना v कृषि और बागवानी का विकास और उन्नति vi बंजर भूमि का विकास vii पशुपालन, डेयरी उद्योग और मुर्गीपालन viii चारागाह का विकास ix गाँवों में मत्स्यपालन का विकास x सड़कों के किनारे और सार्वजनिक भूमि पर वृक्षारोपण xi ग्रामीण, खादी एवं कुटीर उद्योगों का विकास xii ग्रामीण गृह-निर्माण, सड़क, नाली पुलिया का निर्माण एवं संरक्षण xiii पेय जल की व्यवस्था xiv ग्रामीण बिजलीकरण एवं गैर-परम्परागत ऊर्जास्रोत की व्यवस्था एवं संरक्षण xv प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालयों सहित शिक्षा, व्यस्क एवं अनौपचारिक शिक्षा, पुस्तकालय, सांस्कृतिक कार्यक्रम आदि की व्यवस्था करना xvi ग्रामीण स्वस्थता, लोक स्वास्थ्य, परिवार कल्याण कार्यक्रम, महिला एवं बाल विकास, विकलांग एवं मानसिक रूप से मंद व्यक्तियों, कमजोर वर्ग खासकर अनुसूचित जाती एवं जनजाति के कल्याण-सबंधी कार्यक्रमों को पूरा करना xvii जन वितरण प्रणाली की उचित व्यवस्था करना xviii धर्मशालाओं, छात्रवासों, खातालों, कसाईखानों, सार्वजनिक पार्क, खेलकूद का मैदान, झोपड़ियों का निर्माण एवं व्यवस्था करना ग्राम पंचायत की आय के स्रोत क्या हैं? इस पंचायत समिति का संगठन ग्राम पंचायतों द्वारा हो. बचत बैंक खाता संख्या में जन धन योजना या भामाशाह योजना के तहत खोले गए हो 2. जिला परिषद् का अध्यक्ष या व्यवस्थापिका का सदस्य निर्वाचित होने पर प्रमुख को अपना पद छोड़ना होगा. प्रत्येक समिति में अध्यक्षसहित पाँच सदस्य होते हैं. वह ग्रामीण अफसरों के आचरण के विरुद्ध शिकायत भी कर सकता है. आई ने ऐसे हाइड्रोजैल का विकास किया है जो पानी की कमी वाले इलाकों में खेती के लिये फायदेमंद साबित हो सकता है। पूसा हाइड्रोजैल के बारे में नेशनल रिसर्च डवलपमेंट कॉर्प के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक केवीएसपी राव कहते हैं कि इस टेक्नोलॉजी का विकास खासकर उन इलाकों को ध्यान में रखकर किया गया है जहाँ पानी की कमी होती है। देश के कई इलाकों में ट्रायल से यह साबित हुआ है कि हाइड्रोजैल कम वर्षा और सिंचाई के बिना भी फसल उत्पादन में बढ़ोत्तरी कर सकता है। इसे अनाज से लेकर दलहन, सब्जी और यहाँ तक कि नर्सरी पर भी परखा जा चुका है। कैसे काम करता है पूसा हाइड्रोजैल पूसा हाइड्रोजैल बारीक कंकड़ों जैसा है। इसे फसल की बोवनी की समय ही बीज के साथ खेतों में डाला जाता है। जब फसल में पहली बार पानी दिया जाता है तो पूसा हाइड्रोजैल पानी को सोखकर 10 मिनट में ही फूल जाता है और जेल में बदल जाता है। जैल में बदला यह पदार्थ गर्मी या उमस से सूखता नहीं है। चूँकि यह जड़ों से चिपका रहता है, इसलिये पौधा अपनी जरूरत के हिसाब से जड़ों के माध्यम से इस जैल का पानी सोखता रहता है। यह जैल ढाई से तीन महीने तक एक-सा रह सकता है। भैंसलाना ग्राम पंचायत कोटपुतली तहसील से 10 किमी की दूरी पर स्थित है! कुल सदस्यों के पाँचवें भाग द्वारा माँग किये जाने पर 10 दिनों के अंतर्गत जिला परिषद् की विशेष बैठक बुलाई जा सकती है.

Next

शौचालय सूची यहाँ देखिये

ग्राम पंचायत योजना राजस्थान

यहाँ हम जिन प्रावधानों का उल्लेख करेंगे वे एक model के तौर पर है. विद्यालय स्वछता एवं स्वास्थ्य शिक्षा! I Love blogging and like to share informational articles. अन्य स्थाई समितियाँ अपने अध्यक्ष का चुनाव अपने बीच के सदस्यों में से करती है. इस तरह की समिति अपने कार्यों के सम्पादन हेतु B. Mandi ka rahne bala hun. .

Next